प्रशान्त महासागरीय धाराएँ || भूगोल || gkhub ||महत्त्वपूर्ण तथ्य


प्रशान्त महासागरीय धाराएँ

प्रशान्त महासागरीय धाराएँ

प्रशान्त महासागर विश्व का क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बङा महासागर है। यह एक ऐसा महासागर है जो महाद्वीपीय भागों(स्थलमंडल) के पूर्व एवं पश्चिम दोनों ओर फेला हुआ है।

प्रशान्त महासागरीय धाराएँ

अमेरिकन महाद्वीपों के पश्चिम की ओर पूर्वी प्रशान्त महासागर जबकि एशिया महाद्वीप के पूर्व की ओर पश्चिमी प्रशान्त महासागर का फैलाव मिलता है। भूमध्य रेखा इस महासागर को दो भागों में बाँटती है। भूमध्य रेखा से उत्तर की ओर वाले भाग को उत्तरी प्रशान्त महासागर एवं दक्षिण की ओर फैले भाग को दक्षिणी प्रशान्त महासागर कहा जाता है।

अध्ययन के दृष्टिकोण से प्रशान्त महासागर की धाराओं को भी उत्तरी प्रशान्त महासागर की धाराओं में बाँटा गया है जो निम्न प्रकार हैं-

उत्तरी प्रशान्त महासागर की धाराएँ

1. उत्तरी विषुवतीय धारा – यह धारा मध्य अमेरिका के पश्चिमी तट से आरम्भ होकर पूर्व से पश्चिम की ओर बहती हुई फिलीपाइन द्वीप समूह तक पहंुँचती है।

2. क्यूरोशिवो का गर्म धारा – उत्तरी भूमध्यरेखीय धारा फिलीपाइन द्वीप तक पहुँचने के बाद ताइवान तथा जापान के तट के साथ उत्तरी दिशा में बहने लगती हैं तथा क्यूरोशिवो धाराके नाम से जानी जाती है।

3. कैलीफोर्निया की ठण्डी धारा- यह उत्तरी प्रशान्त धारा का ही विस्तार मानी जाती है, क्योंकि यह ठण्डे क्षेत्र से गर्म क्षेत्र की ओर बहती है। इसलिए इसे कैलिफोर्निया की ठण्डी धार कहा जाता है।

4. अलास्का धारा- उत्तरी अमेरिका के पश्चिमी तट पर उत्तरी प्रशान्त महासागर की दूसरी धारा घङी की सूई के विपरीत दिशा में उत्तर की ओर मुङ जाती है।

5. उत्तरी प्रशान्त गर्म धारा- जापान के दक्षिणी-पूर्वी तट पर पहुँचने के बाद क्यूरोशिवो धारा प्रचलित पछुआ पवनों के प्रभाव से महासागर के पश्चिम से पूर्व की ओर बहने लगती है।

6. ओयासिवो की ठण्डी धारा- यह बैरिंग जलडमरूमध्य से शुरू होकर कमचटका प्रायद्वीप के पूर्वी तट के समीप उत्तर से दक्षिण की ओर बहने वाली ठण्डे जल की धारा है।

7. ओखोटस्क अथवा क्यूराइल की ठण्डी धारा- यह ओखोटस्क सागर से शुरू होकर सखालीन द्वीप के पूर्वी तट के साथ-साथ बहती हुई जापान के होकैडो द्वीप के समीप ओयोविसो धारा से मिल जाती है।

दक्षिणी प्रशान्त महासागर की धाराएँ

1. दक्षिणी विषुवतीय गर्म धारा- यह गर्म जलधारा है जो पूर्व में मध्य अमरीका के तट से पश्चिम में ऑस्ट्रेलिया के पूर्वी तट तक जाती है।

2. दक्षिणी प्रशान्त धारा- यह तस्मानिया के निकट पूर्वी ऑस्ट्रेलिया धारा पछुआ पवनों के प्रभाव में आ जाती है और पश्चिम से पूर्व की ओर बहने लगती है। यहाँ पर इसे दक्षिणी प्रशान्त धारा के नाम से जानते है।

3. पूर्वी ऑस्ट्रेलिया गर्म धारा- यह ऑस्ट्रेलिया के पूर्वी तट के साथ बहती है। यह गर्म जलधारा है।

4. पेरू की ठण्डी धारा- दक्षिणी अमेरिका के दक्षिण-पश्चिम भाग पर पहुँचकर यह उत्तर की ओर मुङ जाती है और पेरू के तट के साथ-साथ बहने लगती है। यह ठण्डे क्षेत्र से गर्म क्षेत्र की ओर चलती है।

प्रशान्त महासागरीय धाराएँ

◊◊Read This: 42 वां संविधान संशोधन

Have any Question or Comment?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.